You are welcome for visit Mera Abhinav Ho Tum blog

Friday, August 15, 2014

मस्त आँखों से

मस्त आँखों से पिया कभी
कभी लवों की जाम से

बढ़ाई और दो-चार कदम
होश आई ना शाम से

इश्क में हुआ, ये बंदा बदनाम
अब रहा ना किसी काम के।।