You are welcome for visit Mera Abhinav Ho Tum blog

Thursday, September 4, 2014

पगला

जब याद तुम्हारी आती है,
मैं सपनों में खो जाता हूँ ।
जब मैं तुझे देखता हूँ,
देखता ही रह जाता हूँ ।


जब मैं कुछ कहना चाहता हूँ,
सोचता ही रह जाता हूँ ।
जब मैं अतीत में जाता हूँ,
सिर्फ तुम्हें ही पाता हूँ ।


ये दिल कितना भावुक है,
मैं समझ नहीं पाता हूँ ।
जब मैं नजरें छुपाता हूँ,
तुम मुझे बुलाती हो ।


जब मैं कुछ कहता चाहता हूँ,
तुम खमोंश हो जाती हो ।
और तुम्हारी ये खामोशी,
मुझे पगला-पगला कहती है।।