You are welcome for visit Mera Abhinav Ho Tum blog

Monday, January 19, 2015

बहुत बेबसी के

बहुत बेबसी के 
वो दो पल का साथ 

कभी दिल-से-दिल 
तो कभी हाथों से हाथ

कितने खुदगर्ज थे 
मजधार में कभी हमदोनों

किसी ने हाथ बढ़ाकर 
ना दिया डूबते का साथ ।।