You are welcome for visit Mera Abhinav Ho Tum blog

Friday, March 25, 2016

सिसकता प्यार

मेरे जीवन की ओ मधुरतम् खुशबू
माली बना तेरी खुशियाँ सवांरूगा।

सजा सका ना अगर सेज फूलों की
कदम-2 पे अपना दिल बिछा डालुँगा।
मेरे ह्रदय की ओ मधुरतम् खुशबू
नयन में हर पल तूझे बसाउँगा ।

अभी तन्हा तेरी यादों के पल समेटे हुए 
गीत अरमां के गा कर किसे सुनाउँगा।
मेरे ह्रदय की ओ मधुरतम् खुशबू
लवों पे नाम तेरा ही बस गुनगुनाउँगा।

दूर रह कर ना गम करना जुदाई का 
होंगे हम भी कभी साथ ये दुआ करना।
मेरे ह्रदय की ओ मधुरतम् खुशबू
मेरीे साँसों से अपनी साँसे ना जुदा करना।।